Thursday, January 27, 2022
Homeकहानियांशादी की सुहागरात एक नई प्रथा भाग 2 | जिस्म की गरमी...

शादी की सुहागरात एक नई प्रथा भाग 2 | जिस्म की गरमी | हिन्दी कहानियां

रानी जो अभी तक बेसुध पड़ी है उसके साथ जिस अजनबी ने सुहागरात मनाई उसे वह जानना तो दूर उसके चेहरे को भी नही पहचानती। रानी ने खुदको संभाला जल्दी से अपने कपड़े पहने और कमरे की लाइट ऑन की। उसने कमरे में चारो तरफ देखा लेकिन वो अजनबी कमरे में कही नही है। रानी बिल्कुल शांत हुई उसके बाद कमरे का दरवाजा धीरे से खोला रोहित ने जेसे ही रानी को देखा उससे रहा नही गया। उसने रानी को अपनी बाहों में उठा लिया और बिस्तर की तरफ ले गया।

रानी के साथ हुए छल को वो अपने तक ही रखना चाहती है उसे डर है कि अगर रोहित को यह सब पता चलेगा तो वो उसे घर से ना निकाल दे। रानी बहुत थकी हुई है उसे अब आराम को जरूरत है लेकिन रोहित ने अपना खेल शुरू कर दिया है। रोहित चाहता है रानी उसका साथ दे जिससे दोनो एक दूसरे से सन्तुष्ट हो सके। रोहित धीरे धीरे रानी के वस्त्रों को उतारता है तभी अचानक रोहित की नजर रानी के शरीर पर चोट के निशानों पर पड़ती है जो रानी को इस अजनबी से मिले है जिसका वो चेहरा भी नही देखी।

रोहित यह सब देखकर चौक जाता है और इसका कारण पूछता है आखिर यह चोट इसे लगी कैसे। रानी रोहित को एक मीठी प्यार की झप्पी देकर सबकुछ भुला देती है। दोनो प्यार की सईया पर जीवन के सुखभोग में लग जाते है। रानी परेशान है लेकिन वो रोहित का पूरा साथ दे रही है। वो नही चाहती की रोहित को उसकी पहली सुहागरात के बारे जरा सी भी भनक लगे। दोनो जीवन में चल रहे सभी सुख दुख को भुला रीतक्रिया में तृप्त हो जाते है।

अगली सुबह रानी इस अजनबी का पता लगाने में जुट जाती है कि आखिर वो कौन था जिसने उसके साथ इतना बड़ा छल किया। वो सोचती है आखिर बंद कमरे में से वो इस तरह गायब कैसे हो सकता है। अखोरबिस कमरे में ऐसा कोनसा राज है जो उसे दिखाई नही दे रहा। धीरे धीरे समय गुजर गया और संध्या हुई। आज रानी ने अपने हाथो से सभी को खाना बनाया है उसने करन के बोलने पर उसका पसंदीदा गाजर का हलवा खास उसके लिए बनाया है।

रोहित आज आज देर से आयेगा क्योंकि हॉस्पिटल में एक इमर्जेंसी केस आया है जिसे वो देख रहा है। सभी लोग खाने के लिए बैठते है, करन रानी को जबरदस्ती खाना खाने को पास बैठा लेता है। करन रानी को जबरदस्ती अपना मनपसंद हलवा खिलाता है उसके बहुत मना करने पर भी वो नही मानता आखिर में रानी को उसकी बात माननी पड़ती है और वो करन के हाथ से थोड़ा हलवा खा लेती है।

सभी लोग खाना खाकर अपने कमरे की तरफ सोने के लिए जाते है। रानी को आज कुछ अजीब लग रहा है उसे बहुत तेजी से नींद आ रही है और वो सोने जा रही है। उसने जेसे तेसे अपना कमरा पकड़ा और धड़ाम से बिस्तर पर लेट गई। थोड़ी ही देर में उसे नींद आ गई और वो सो गई।

रानी को कुछ अजीब लगता है उसे महसूस हो रहा है कि इसके साथ कोई संबंध बना रहा है वो अपने ऊपर हुए सभी हमलों को महसूस कर रही। रानी ने पूरा जोर लगा दिया लेकिन उसकी आंखे नही खुल रही उसके हाथ पैर काम नही कर रहे ऐसा उसने पहले कभी महसूस नही किया। रानी लाचार बेबस होकर पड़ी है सबकुछ जानने के बावजूद वो कुछ नही कर पा रही। उसे अच्छे से याद है कि उसने कमरे का दरवाजा अंदर से बंद किया है। लेकिन कोई इस तरह कैसे अंदर आकर उसके साथ यह सब कर सकता है। कहानी ले रही नया मोड़ खुलेंगे गुप्त राज जो रानी को कर रहे है मदहोश।

अगर आपको भी किसी पर सक है कि आखिर कोन है वो अजनबी जो रानी पर शारीरिक हमले कर रहा है और अंदर आने का वो राज को सिर्फ उस अजनबी के पास है। नीचे कॉमेंट में बताए।

यह भी पढ़े: शादी की सुहागरात एक नई प्रथा भाग 3 जिस्म की गर्मी

आग्रह: यदि आपको भी जिस्म की गर्मी शृंखला की कहानी शादी की सुहागरात एक नई प्रथा अच्छी लगी तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करे। आपके सपोर्ट से इसके अगले भागो को जल्द अपडेट कर दिया जायेगा।

रिलेटेड पोस्ट

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लेटेस्ट पोस्ट